Movie Review : Rang Rasiya

Directed by : ketan mehta

Writer : ketan mehta

Cast

Randeep Hooda : Raja Ravi Verma

Nandana sen : sugandha

Chirag vorah : Dada saheb falke

राजा रवि वर्मा एक प्रसिद्ध भारतीय चित्रकार थे , जिनके ऊपर बनी यह फिल्म “रंग रसिया

इस फिल्म को देखने से पहले सच बताऊ तो मुझे पता भी नहीं था कि “राजा रवि वर्मा ” कौन थे, ना ही मैनें उनका नाम भी कभी सुना था…

तो पहले हम उनके बारे में जानते हैं….

राजा रवि वर्मा एक प्रसिद्ध भारतीय चित्रकार थे, जिन्हें भारतीय कला के इतिहास में महान चित्रकारों में गिना जाता है , उन्होंने ही सर्वप्रथम भारतीय संस्कृति, साहित्य और पौराणिक कथाओं ( जैसे महाभारत और रामायण ) और उनके पात्रों का जीवन चित्रण किया…

उनके कृतियों की सबसे बड़ी विशेषता है हिंदू महाकाव्यों और धर्म ग्रंथों पर बनाए गए चित्र.

वडोदरा के लक्ष्मीविलास पैलेस स्थित संग्रहालय में इस महान चित्रकार के चित्रों का बहुत बड़ा संग्रह है…

राजा रवि वर्मा का जन्म 29 अप्रैल 1848 को केरल के किलिमानूर में हुआ और मृत्यु 2 अक्टूबर 1906 को हुआ था..

उनके पिता एक पारंगत विद्वान थे और माता एक कवि और लेखिका थी…कहने को तो वो “राजा ” थे लेकिन उनके पास कोई राज्य ना था..उनके नाम से जुड़ा यह शब्द एक उपाधि थी जो तत्कालीन वायसराय ने उनकी प्रतिभा का सम्मान करते हुए उन्हें दी थी..1904 में तब देश का शीर्ष सम्मान ” केसर – ए – हिंद ” दिया गया था , यह सम्मान पाने वाले वे पहले कलाकार थे…

पहली बार देवी – देवताओं को तस्वीरों में उकेरने वाले राजा रवि वर्मा ने भारतीय सिनेमा के ” पितामह दादा साहब फाल्के ” के जीवन में भी अहम भूमिका निभाई थी…

अब बात फिल्म की करे तो बहुत ही बढिया फिल्म है रनदीप हुड्डा ने ( राजा रवि वर्मा जी )बहुत ही अच्छा अभिनय किया है , फिल्म के डायलोग, संगीत दिल को छू लेती है…

नंदना सेन काफी प्रतिभाशाली कलाकार हैं उनकी सुंदरता, सादगी और अभिनय हमे उस जमाने तक खींच के ले जाती है, फिल्म में उन्होंने सुंगधा का किरदार निभाया ना ना जिया हैं इस किरदार को..सुंगधा एक वेश्या हैं जो राजा रवि वर्मा की प्रेरणा है और प्रेयसी भी…फिल्म में दिखलाया गया है कि वो सुंगधा को ही लेकर देवीयों की चित्र बनाते थे जिसके लिए उन्हें काफी विवादों का सामना करना पड़ता है..

फिल्म को देखने से हम उस समय की सभ्यता और संस्कृति को अच्छे से जानने और समझने को मिलती है..और हमें जोड़ती है उस समय से जो काफी पीछे छूट गया है…

कुल मिलाकर फिल्म सुपरहिट है और अगर आप भी कला और इतिहास के दिवाने हैं तो ये फिल्म जरूर देखें…

यु ट्यूब पर यह उपलब्ध है..

खैर एक सवाल मन में आता है कि ऐसी बेहतरीन फिल्मों का टेलर क्यों नहीं दिखाया जाता, क्यों ऐसे फिल्मों को रद्दी की तरह साइड कर दिया जाता है क्या सिर्फ चटपटी और अश्लील फिल्मों के हम उपासक है ?

#Divya’s Diary

💝

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s